टूलबार बनाओ, पैसा कमाओ

हिन्दी ब्लॉगिंग में हम अक्सर चिट्ठों के जरिये कमाई की बात करते हैं. लेकिन अभी  भी हिन्दी कंटेंट के लिये बहुत से माध्यम ऐसे नहीं हैं जिनके जरिये कमाई की जा सके. ले देकर लोग ऐडसैंस की ही बात करते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं एडसैंस के अलावा भी कुछ तरीके हैं जिनका इस्तेमाल करके भी कुछ कमाई की जा सकती है.

ऐसी ही एक सेवा के बारे में आज आपको बताने जा रहा हूँ. यह सेवा है कन्ड्यूट डॉट कॉम की. इस साइट में आप खुद को रजिस्टर करवा कर अपना टूल बार बना सकते हैं. रजिस्टर करते ही यह साइट आपके खाते में 100 डॉलर (लगभग चार हजार रुपये) डाल देती है. लेकिन यह 100 डॉलर आपको तब तक  नहीं मिलते जब तक की आप के खाते जी रकम 250 डॉलर यानि (लगभग दस हजार रुपये ) नहीं हो जाती. यह रकम आपके पे-पाल के खाते में हर महीने जमा होती रहेगी.

आपकी यह रकम आपके टूलबार के प्रयोक्ता बढ़ने पर बढ़ती रहेगी. आप कितने पैसे कमा सकते हैं वह इस बात पर निर्भर करता है कि आपके हर महीने कितने नये प्रयोक्ता बन रहे हैं और पुराने प्रयोक्ता आपके टूलबार को कितना प्रयोग में ला रहे हैं. इस साइट पर जाके आप अपनी कमाई का हिसाब भी लगा सकते हैं.

इसी हिसाब के अनुसार यदि आप हर महीने 14 डॉलर ( लगभग 560 रुपये) से लेकर 1440 डॉलर (लगभग 57,000 रुपये)  तक कमा सकते हैं.तो है ना फायदे का सौदा. ना आपको कंटेंट लिखना ना ही टिप्पणी करनी बस अपने टूलबार का प्रचार कर उसके डाउनलोड बढ़वाइये और घर बैठे पैसा कमाइये.  

इसके रिवार्ड कार्यक्रम के बारे में जानने के लिये यहाँ क्लिक करें.

बहुधा पूछे जाने वाले प्रश्न यहाँ हैं.   कुछ और फायदे जानने के लिये यहाँ क्लिक करें.

तो फिर देर कैसी हो जाइये शुरु.बनाइये टूलबार और करिये प्रचार.

कुछ पैसा मिले तो हमें पार्टी में शामिल करना ना भूलियेगा 🙂

By काकेश

मैं एक परिन्दा....उड़ना चाहता हूँ....नापना चाहता हूँ आकाश...

17 comments

  1. कुछ लोग यह काम करें तो अच्छा रहेगा. कम से कम कुछ पैसे तो जुड़ेंगे. पाण्डेय जी की बात सही है. एमवे वाला ही मसला है.

  2. good information.

    thanks for sharing.

    [blog par adsense ke ad lagaye hain maine bhi lekin kuch fayda nahin.kyonki people are very smart… try avoiding clicks!!!hee hee hee]

    thanks.

  3. अच्छा तभी भाटिया जी ब्लोगवाणी के पीछे पंजा झाड कर पडे है,कि मेरा टूल बार जोडो.यानी सही बात पैसो का मामला है,हिंदी फ़िंदी सेवा का इसमे कोई लेना देना नही है जी .सही है लगे रहो टूळ बार बनाने ककेश भाई,लेकिन भाई काकेश हमने भी एक अदद टूल बार बनाया था,हमे तो आज तक कोई पैसा नही मिला,सच तो ये है कि हमने दुबारा जाकर भी नही देखा ..टूल बार चल निकला अपन खुश.अगर कुछ मिला तो आपकी पार्टी पक्की जी..:)कही होली पर बना तो नही रहे हो ..:)


    [काकेश ने कहा : वाह अरुण जी पैसे कमा लिये और अब कहते हैं पैसा नहीं मिला. हम भी आपका और जगदीश जी दोनों का टूल बार इस्तेमाल करते हैं. अब दोनों से पार्टी लेंगे. पहुंचते हैं दोनो के घर कुछ दिनों में]

  4. यहा देखे http://aaina2.wordpress.com/2008/03/20/dhurvirodhi/

    यहा भी देखो http://hinditoolbar.wordpress.com/2007/12/20/info/
    और कारण यहा देखे http://blogvani.icn.in/?p=4 ,अब और क्या कहे जी,
    किसी भी एग्री गेटर से पंगा लेने की चीज भी है टूल बार ये भी बताईये ना..:)

  5. काकेश दा,
    हम लोग जब इंजिनियरिँग पास करके नौकरी तलाश कर रहे थे, तो अखबार देखा करते थे कि इन्टरनेट के जरिये घर बैठ के पैसा कमाये..
    नौकरी तो ढूढ ही रहे थे, एक दिन इनके चन्गुल मै भी फस गये, और इनकी दुकान पे पहुचे तो इन लोगो ने ३०० रुपये लेके हमको २५०-३०० वेबसाइतट के URL दे दिये,कहने लगे कि लीड बनाओ पुरी साइट पर्.. और कमाओ २५००० से ५००००…
    आज तक एक पैसा तो आया नही,ना ही लीड बनती है उसमे..
    खैर अगर आपके account मै पैसा आया तो आपसे पार्टी जरूर लेँगे..
    All the best 4 ur Toolbar…
    टूलबार बनाओ पैसा कमाओ..

    [काकेश ने कहा : नवीन जी मैने ना तो यह टूलबार बनाया है ना इसे अपनी साइट पर डाउनलोड के लिये लगाया है. मुझे यह जानकारी मिली तो सोचा सबके साथ बांट लूं]

  6. श्रीमान
    पहले भारत था..अब आप हैं..क्या??? महान. आप जो हिन्दी ब्लॉग लेखकों को गरीबी की रेखा से ऊपर उठाने का प्रयास कर रहे हैं इसीलिए आप को महान कहा है.अब तनिक ये बताईये की आप के अपने ब्लॉग पर ये टूल बार कहाँ है? और अगर है तो कब से है और उससे कितना लाभ हुआ है और अगर नहीं है तो क्यों नहीं है? अगर लाभ नहीं है तो आप प्यासों को बेकार ही मृग मरीचिका से बहला रहे हैं…
    नीरज

  7. वैसे यहा मै पिटारा के लिये धुरविरोधी जी तक को याद करने वाले भाटिया जी को एक राय देना चाहता हू कि अगर वो ब्लोगवाणी का ये पॄष्ठ पढ लेते तो उन्हे इतना परेशान होने की जरूरत ना होती.लिंक ये रहा http://blogvani.icn.in/?p=9 ब्लागवाणी में संग्रहण के लिये ब्लाग्स का चयन. मस्ती लीजीये काकेश जी ,बुरा ना मानो होली है..:)

  8. गूगल इंडिया के बंगलोर ऑफिस से जारी की गयी न्यूज़ के अनुसार ब्लागवाणी अब गूगल.ब्लागवाणी .कॉम हो गयी हैं ।

  9. हम ब्लॉगवाणी के प्रवक्ता के नाते ऊपर वाली खबर की पुष्टि करते हैं और यह विश्वास दिलाते हैं कि गूगल ब्लॉगवाणी से जुड़े हर ब्लॉगर को एक एक लाख रुपया दिया जायेगा.काकेश जी के ब्लॉग के जरिये सभी को इस डील के बारे में पता चला इसलिये उन्हे भी सात % धन दिया जायेगा. वह चाहें तो नयी कंपनी में भी कोई उच्च पद संभाल सकते हैं.

  10. काकेश जी, हम तो अपनी एडे-सेंस की कमाई से खुश हैं। इस महीने फ़िर १०० डालर पूरे होने वाले हैं :)।

Leave a comment

Your email address will not be published.