मेरे संकल्प !!

नये साल में कुछ संकल्प लेने का प्रचलन आजकल जोरों पर है. शास्त्री जी ने जब अपने नव-वर्ष संकल्प ! बताये तो लगा कि ऎसे संकल्पों को सार्वजनिक करने से शायद मानसिक प्रेरणा मिले उन संकल्पों को पूरा करने की इसलिये मैं भी अपने संकल्प आपके साथ बाट रहा हूँ.

व्यक्तिगत/पारिवारिक संकल्प

1. अपने वजन को कम से कम आठ किलो कम करना है : अभी वजन 91 किग्रा है.

2. हिन्दी की कम से कम 30 नयी किताबें पढ़नी हैं.

3. पूरे वर्ष में कम से कम 15 दिन घर का खाना बनाने में पत्नी की सहायता करनी है.

4. कम से कम 100 नये लोगों को जानना है.

चिट्ठाकारी संबंधी संकल्प

1. मधुशाला पर अपनी श्रंखला जनवरी माह में ही पूरी करनी है.ऎसी ही कम से कम एक श्रंखला और शुरु करनी है.

2. खोया पानी उपन्यास अप्रेल तक अपने चिट्ठे पर छापना है.

3. वर्ष में कम से कम 200 नयी पोस्ट डालनी हैं जिसमें 80 पोस्ट व्य़ंग्यात्मक हों.

4. पॉडकास्टिंग करनी है. 5. पढ़ी हुई नयी किताबों में से कम से कम 10 के बारे में पोस्ट लिखनी है.

6. सामुहिक चिट्ठों जैसे कबाड़खाना , रेडियोनामा,हिंदी किताबों का कोना  पर कम से कम एक पोस्ट प्रतिमाह डालनी है.

7. कम से कम पांच टिप्पणी रोज करनी हैं जिनमें एक नये चिट्ठाकार पर हो.

8. किसी भी विवाद से दूर रहना है.

इसके अलावा और भी कई चीजें सोची हैं लेकिन उन्हें संकल्प के तौर पर नहीं ले रहा हूँ. आपकी भी मेरे लेखन से कोई अपेक्षाऎं हों तो टिप्पणीयों में बतायें.

चलिये तो शुरु हो जाते हैं आज से ही.

By काकेश

मैं एक परिन्दा....उड़ना चाहता हूँ....नापना चाहता हूँ आकाश...

22 comments

  1. लोजी ये क्या बात हुई चलिये हम भी लगे हाथो आपके साथ संक्लपो की चेन बना डालते है
    १. हम भी कम से कम तीन चार सौ ग्राम वजन कम जरूर करेगे.
    २. आप जैसे जैसे किताब पढते रहेगे हमे हतिया लेनी है..
    ३.साल मे १५ दिन मै परिवार आपके यहा पधारना है ताकी हम देख सके की आप अपने संकल्प पर खरे उतरे..
    ४.हम जिस जिस से पीछा छुडाना चाहते है आपसे मिलवाते रहेगे.
    अब बात चिट्ठो की
    १.आपकी मधुशाला का उदघाटन कम से कम हमारे ही द्वारा हो..
    २.ये आप खुद ही करे
    ३.पोस्ट चाहे तो आप हमारे चिट्ठे पर भी डाल सकते है हम आपके द्वारा अपने नाम के उपयोग पर कोई शिकवा नही करेगे
    ४.कोई टिप्पणी नही
    ५.आप हमारे चिओट्ठे पर ये कार्य रोज भी कर सकते है
    ६.आप चाहे तो पाचो टिप्पणी भि हमारे चिट्ठे पर कर सकते है स्वागत है..
    ७.ये काम हम नही कर सकते..आखिर पंगेबाज का भी कोई अस्तित्व है.
    ८.बाकी फ़ोनवा पर बतियायेगे जी..

  2. आपके और पंगेबाज जी के संकल्प बहुत मजेदार हैं.
    संकल्पों का क्या, बनते और टूटते ही रहते हैं.
    लोग दिल तोड़ डालते हैं तो संकल्प चीज ही क्या है?

  3. काकेश जी, बहुत सीरियस टाइप संकल्प हैं सब….वाकई, आपके संकल्प पढ़कर बहुत अच्छा लगा…बिल्कुल, आज से ही शुरू हो जाइये…

    नए वर्ष की ढेर सारी शुभकानाएं आपको.

  4. बहुत खूब!!

    नया साल आपको पहले से और भी बेहतर कुछ दे जाए! नए वर्ष की शुभकामनाएं

  5. नव वर्ष मंगल मय हो
    मय से दूर रहे तभी मंगल होगा

    काकेश: मय व धूम्र से तो दूर ही हैं रचना जी.

  6. प्रत्यक्षा जी वो मुझे पेश करना है ,पास होने के चक्कर मे तो ही ये मुझे झेलने वाले है…:)

  7. लेखन से तो नहीं, पर हां, जब आप खाना बनायें तो हमें अवश्य खिलाएं (साल में 15 बार ज्यादा तो नहीं हैं?):)

  8. आप वजन घटा पाए तो हमे भी राज़ ज़रूर बताइएगा । बाकि अपन का अभी कोई संकल्प नही है ।

  9. नए साल मुबारक हो !
    आपको आपके संकल्प पूरे करने के लिए हार्दिक शुभकामनाएं !

  10. सबसे जरुरी संकल्प—-
    ऊपर लिखे किसी भी संकल्प को सीरियसली नहीं लेना है।
    मित्र अनुशासित सिर्फ कंप्यूटर होते हैं या कुत्ते
    हम रचनाधर्मी लोग हैं। अनंत के साधक हैं, यूं तुच्छ संकल्पों की सीमाओं में अपने पुरुषार्थ को ना बांधिये।

  11. भाई आपके संकल्प में से कुछ संकल्प मेरे संकल्प से मिलते है,मेरी भी कोशिश रहेगी!!कई वर्षों से इसी तरह संकल्प लेता आया हूं पर पूरा करने में कुछ साल और लग जाएं ये पता नही कब पूरे होंगे !!पर नया साल मुबारक !!

  12. नया साल अभी १ जनवरी को शाम ६ बजे सांझ ढलने के बाद शुरु हुआ। आप कल २ जनवरी की सुबह नए साल के सूरज की पहली किरन देख पाऐंगे। नया साल मुबारक हो आप को सपरिवार, जिसमें भाभियों और भतीजे भतीजों के साथ सभी हिन्दी ब्लॉगर शामिल हैं।
    मैं ने पिछले साल १६ किलो वजन कम किया है। रोज २० मिनट जोगिंग करें और खाने में घी कम से कम घर में बन्द कर दें,शक्कर नाम मात्र की खाऐं। पहला संकल्प पूरा हुआ समझिए। बाकी की आप जानें।

  13. नववर्ष की शुभकामनाएँ । पिछले वर्ष आपसे एक आग्रह किया था , वह तो आपने पूरा कर दिया । उसके बारे में बहुत जल्दी अपने चिट्ठे में लिखूँगी ।
    घुघूती बासूती

  14. काकेश जी,
    बड़े ISO Certified टाईप संकल्प हैं आपके !
    कहाँ से उपलब्ध हुये, जरा दुकान का पता बताएँ तो हम भी पहुँचें वहाँ ।
    अगर अभी भी न्यू ईयर डिस्काउन्ट में मिल जाय , तो हमहूँ लइलैं ।
    वरना आज़कल तो संकल्पों की बड़ी जोरदार ब्लैकमार्केटिंग चल रही है,
    राजनीति में । कहीं आपौ के संगत तो खराब नाहीं हुई गयी इन नासपीटों के
    असर से । वइसे संकल्पवा सब तो थ्योरेटिकली चकाचक है । बधाई हो ।

  15. बाई गाड, जे हुई न बात !
    लकड़ी छूके लिए हुए एक भारी-भरकम व्यक्तित्व के भयंकर संकल्प. मज़ा आ गया.
    हाँ, यदि एक बिन्दु ब्लागर्स – सम्मेलन का भी रखते तो बड़ा उपकार होता.

    आप व आपके सभी पाठक मित्रों को नव-वर्ष की हार्दिक शुभ-कामनाएं.

    नव वर्ष हो सुखमय, सुवासित, शांति की शुचि कामना हो,
    सत्य-शिव-सुंदर समन्वित साम्य से अंतस बना हो,
    सुलभ श्रम-शर हो प्रत्यंचा बुद्धि की, प्रारब्ध फ़िर क्या;
    सहज ही कर्तव्य से, नित नव्य की अभिव्यंजना हो.

    शब्दों मे हो प्रणव, दिशाओं मे अरुणिम प्राची हो,
    नवग्रह में गुरु, देवों में शिव, तीर्थों में काशी हो.
    रस में हो श्रृंगार, वृछ में चंदन, सावन ऋतुवों में,
    ऐसा हो नव वर्ष, शान्ति-सुख-नेह-कर्म अविनाशी हो.

Leave a comment

Your email address will not be published.