इंजी मैं तुम्हारे साथ हूँ

इंजी पेन्नू का अपराध सिर्फ इतना था कि उन्होने http://kerals.com/ पर एक मलयालम ब्लॉग द्वारा सामग्री को चुराने का आरोप लगाते हुए एक ई-मेल लिखा था. बदले में इस साइट की ओर से उन्हे धमकी भरे ई-मेल भेजे गये. उन्हे शारीरिक क्षति पहुंचाने की धमकी दी गयी. उनके प्रोफाइल को एक पोर्न साइट से लिंक कर दिया गया. उन्हे झूठा कानूनी नोटिस भेजा गया. और यह सब उस साइट के द्वारा किया गया जिसके मालिक, इंजी के अनुसार, शादी की साइट व पोर्न साइट एक साथ चलाते हैं. यह सारी बात इंजी अपनी इस पोस्ट में विस्तार से बता रही हैं.

इस बात से यह भी लगता है कि शादी की साइट पर अपना फोटो देना,विशेषकर महिलाओं के लिये,कितना खतरनाक है.इंटरनैट पर भी हमारे वास्तविक समाज की तरह गुंडे बैठे हुए हैं. जो खुद को फायदा पहुचाने के कुछ भी कर सकते हैं.  आप इनका कुछ नहीं बिगाड़ सकते. फिर भी मैं इंजी पेन्नू के साहस को सलाम करता हूँ.

इंजी आपकी इस लड़ाई में मैं आपके साथ हूँ.

इंजी के बारे में मुझे यहां से पता चला.

By काकेश

मैं एक परिन्दा....उड़ना चाहता हूँ....नापना चाहता हूँ आकाश...

3 comments

  1. पहले तो यह स्टनिंग लगा।
    फिर यह लगा कि स्त्री के लिये तो यह और भी खतरनाक है गोलायथ के खिलाफ डेविड बनना।

    केरल.कॉम ने अपना मलयालम खण्ड बन्द तो किया – अच्छा हुआ। पर उन्होने इन्जी के खिलाफ पूरा पन्ना छाप रखा है, और उसे मलयाली बनाम तमिल का रंग दे दिया है।
    हद है!

  2. मामला बड़ा ही पेचीदा है.
    इंजी के साथ ग़लत हो रहा है.
    कुछ किया जाना चाहिए.
    जो जानकर ब्लोग्गर जैसे आलोकजी ९-२-११, ज्ञान दत्त जी, सागर जी इनको आगे आना चाहिए.

Leave a comment

Your email address will not be published.